शेयर बाजार में निवेश क्यों करे और शेयर बाजार में निवेश के 7 फायदे

 इस आर्टिकल में हम शेयर बाजार में निवेश क्यों करे और शेयर बाजार में निवेश के 7 फायदे क्या है यह जानेंगे साथ ही साथ यह जानने की भी कोशिश करेंगे की निवेश करने की आवश्यकता क्यों है।


हमें निवेश करने की आवश्यकता क्यों है ?


हर व्यक्ति के अपने भविष्य के कुछ सपने होते हैं, जैसे कि घर खरीदना, कार खरीदना, फाइनेंशियल फ्री होना और विदेश यात्रा करना इत्यादि। इन सपनों को पूरा करने के लिए वह आय के अलग अलग स्रोत ढूंढता है जिसमे से निवेश करके पैसा बनाना एक विकल्प है। निवेश में हम अपने पैसे को वृद्धि देने के लिए एक आय स्रोत में निवेश करते हैं, जिसे "Passive Income" भी कहा जाता है। निवेश के कई विकल्प हो सकते हैं, जैसे कि फिक्स्ड डिपॉजिट, म्यूच्यूअल फंड, बॉन्ड, डिबेंचर और कंपनी के शेयर  इत्यादि। निवेश करने से आपके पास आर्थिक सुरक्षा की भी गारंटी होती है, जो आपके भविष्य को सुरक्षित बनाने में मदद करती है। 



शेयर बाजार में निवेश क्यों करें ?


निवेश के कई विकल्प हैं, जैसे कि फिक्स्ड डिपॉजिट, म्यूच्यूअल फंड, बॉन्ड, डिबेंचर और कंपनी के शेयर  इत्यादि। किन्तु शेयर बाजार में निवेश करके अपने निवेश को तेजी से बढाने का अच्छा विकल्प है।  यहाँ पर हमें अपने रिस्क के अनुसार निवेश के कई ऑप्शन मिल जाते है जैसे ब्लू चिप स्टॉक , हाई डिविडेंड यील्ड स्टॉक , स्माल कैपिटल स्टॉक्स इत्यादि।  अगर हम ज्यादा से ज्यादा रिस्क ले सकते है तो हम स्माल कैपिटल वाले शेयर में निवेश कर सकते है।  अगर हम कम रिस्क ही ले सकते है तो हम डिविडेंड देने वाले शेयर, ब्लू चिप शेयर, और स्लो मूविंग ग्रोथ शेयर यह सब चुन सकते है।  इसके आलावा शेयर मार्किट में हम पोर्टफोलियो बना कर अपने रिस्क को diversify भी कर सकते है।  इसलिए शेयर बाजार में निवेश करना आवश्यक है।


शेयर बाजार में निवेश क्यों करें ?



शेयर बाजार में निवेश करने से क्या फायदा होता है ? | शेयर बाजार में निवेश के 7 फायदे


आपने सुना होगा कि शेयर बाजार में निवेश करने से बड़ा लाभ हो सकता है। इसमें कुछ सचाई होती है, और शेयर बाजार में निवेश के कई फायदे होते हैं, जिनके माध्यम से आप अपने पैसे को व्यापारिक रूप से बढ़ा सकते हैं। यहाँ हम शेयर बाजार में निवेश के 7 मुख्य फायदे की चर्चा करेंगे:


शेयर बाजार में निवेश के 7 फायदे



शेयर बाजार में निवेश के 7 फायदे :- 

  • बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) के मुकाबले अधिक लाभ  

  • वित्तीय स्वतंत्रता (Financial Freedom)

  • कर लाभ (Tax Benefit)

  • डिविडेंड आय (Dividend Income)

  • पूंजी की वृद्धि (Capital Growth) 

  • Risk diversification

  • Liquidity


बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) के मुकाबले अधिक लाभ  :-  शेयर बाजार में यदि रिसर्च करके हाई डिविडेंड यील्ड शेयर में निवेश करने पर हम बैंक फड़ से ज्यादा अपने निवेश पर कमा सकते है।  शेयर मार्किट में बहोत से शेयर ऐसे है जो बैंक की फड़ से ज्यादा डिविडेंड देते है और साथ ही साथ ग्रो करते रहते है जिससे हमें डबल फायदा हो जाता है।     



वित्तीय स्वतंत्रता (Financial Freedom):- शेयर बाजार में निवेश करने से आप अपनी वित्तीय स्वतंत्रता की दिशा में कदम रख सकते हैं। यह आपको आर्थिक मुक्ति देता है, जिसके बाद आप अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए मेहनत कर सकते हैं, बिना किसी आर्थिक चिंता के।



कर लाभ (Tax Benefit):- शेयर बाजार में निवेश करने से आपको कर लाभ की सुविधा मिलती है। आप निवेश की जमा राशि से कटने वाले करों को कम कर सकते हैं, जिससे आपके आर्थिक लाभ को बढ़ावा मिलता है।


डिविडेंड आय (Dividend Income):- जब आप किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं, तो आपको वो कंपनी के मुनाफे का हिस्सा मिलता है, जिसे डिविडेंड कहा जाता है। यह आपको नियमित आय प्रदान करता है जिससे आप अपने दैनिक खर्चे के रूप ने उपयोग कर सकते हो या फिर उसे फिर से शेयर खरीदने में उपयोग कर सकते हो।  यह एक तरह से रेंटल इनकम की तरह ही है।  जिस प्रकार से आप अपने घर को रेंट पर देके हर महीने रेंट के रूप में पैसा कमाते है।  ठीक उसी तरह आप डिविडेंड से पैसा कमाते है।   



पूंजी की वृद्धि (Capital Growth):- शेयर बाजार में निवेश करने से पूंजी (capital) की वृद्धि होती है। जब आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं, तो आप विभिन्न कंपनियों के शेयरों को खरीदते हैं और जब उनके मूल्य में वृद्धि होती है, तो आपका पूंजी बढ़ता है। यह पूंजी की वृद्धि को "कैपिटल ग्रोथ" कहा जाता है।


शेयर बाजार में निवेश करने से आप निवेश किए गए पैसे को वित्तीय रूप से वृद्धि देने का मौका प्राप्त करते हैं, जिससे आपका पूंजी बढ़ता है और आप आर्थिक दृष्टि से स्वतंत्र होते हैं। इसके साथ ही, यह आपके वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए एक महत्वपूर्ण साधन भी हो सकता है।



Risk diversification :- शेयर मार्किट में हम अपने निवेश को पोर्टफोलियो बना कर रिस्क diversify कर सकते है।  जिससे हमारा रिस्क कम हो जाता है।  जिससे हमारा कैपिटल कम होने का डर ख़तम हो जाता है। पोर्टफोलियो रिस्क कैपेसिटी के आधार पर कई प्रकार के होते है।  जैसे Aggressive पोर्टफोलियो, डिफेंसिव पोर्टफोलियो, इनकम पोर्टफोलियो, इत्यादि।  


Liquidity :-  शेयर बाजार में निवेश करने का एक फायदा यह भी है की इसमें liquidity सबसे ज्यादा है। आप अपने शेयर को कभी भी बेच कर पैसा निकाल सकते है। अगर मैं रियल एस्टेट प्रॉपेटी की बात करू तो उसमे liquidity काफी कम होती है। उसमे सही समय पर buyer नही मिल पाता। जिससे प्रॉपर्टी को बेचने में काफी तकलीफ आती है। 


क्या शेयर मार्केट में पैसा लगाना सही है ?

Conclusion :– शेयर बाजार में निवेश करने से क्या फायदा होता है ?


इस आर्टिकल में हमने देखा कि शेयर बाजार में निवेश करने के कई महत्वपूर्ण फायदे होते हैं। यह निवेश आपके आर्थिक स्वतंत्रता की दिशा में कदम रख सकता है और आपके वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए एक महत्वपूर्ण साधन हो सकता है। इसके अलावा, शेयर बाजार में निवेश करने से आपके पैसे को व्यापारिक रूप से बढ़ाने का मौका मिलता है और आप अपने वित्तीय सुरक्षा को भी मजबूत बना सकते हैं। 


शेयर बाजार में निवेश करने के फायदों के साथ, आपको अपने निवेश के लिए अच्छे विकल्पों की भी चयन की स्वतंत्रता होती है। आप अपने रिस्क के अनुसार विभिन्न शेयर कैटेगरीज़ में निवेश कर सकते हैं और अपने पोर्टफोलियो को डिवर्सिफाई कर सकते हैं। 


इसलिए, शेयर बाजार में निवेश करने से हमें वित्तीय स्वतंत्रता, कर लाभ, डिविडेंड आय, पूंजी की वृद्धि, रिस्क diversification, और liquidity जैसे फायदे होते हैं। इसलिए, शेयर बाजार में निवेश करना एक महत्वपूर्ण आर्थिक निर्णय हो सकता है जो आपके आर्थिक सपनों को पूरा करने में मदद कर सकता है।


आर्टिकल अच्छा लगा होतो आर्टिकल को अपने दोस्तो के साथ शेयर करे और उन्हें भी शेयर मार्केट में निवेश के फायदे बताए। साथ ही अगर आपको कोई doubt है शेयर मार्केट संबंधित तो मुझे कॉमेंट करके जरूर बताएं। 



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.